भोपाल । नगरीय प्रशासन एवं विकास संचालनालय के अपर आयुक्त स्वतंत्र कुमार सिंह एवं नगर निगम भोपाल के आयुक्त अविनाश लवानिया ने सोमवार को स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत नगर निगम भोपाल द्वारा शहर की सफाई व्यवस्था को उच्च स्तरीय बनाने के दृष्टिगत किए जा रहे कार्य की समीक्षा की। उन्होंने निगम के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 की गाईड लाईन के मुताबिक नगर की साफ-सफाई व्यवस्था को और अधिक चुस्त-दुरूस्त बनाकर भोपाल शहर को गार्बेज फ्री सिटी बनाए। समीक्षा के दौरान अपर आयुक्त सत्येन्द्र धाकरे, उपायुक्त हर्षित तिवारी सहित नगरीय प्रशासन एवं विकास संचालनालय के अन्य अधिकारी और निगम के प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी मौजूद थे।   
इस मौके पर निगम आयुक्त अविनाश लवानिया ने स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 के मापदण्डों के अनुरूप शहर में डोर-टू-डोर कचरा पृथक्कीकरण कराए जाने के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने भोपाल शहर को गार्बेज फ्री सिटी बनाए जाने के संबंध में सभी आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। इस मौके पर निगम के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को स्वच्छ भारत मिशन के संबंध में विभिन्न बिंदुओं पर विस्तारपूर्वक जानकारी दी। निगम आयुक्त लवानिया ने सभी प्रभारी सहायक स्वास्थ्य अधिकारियों को अपने क्षेत्रों में घरों में होम कम्पोस्टिंग बिन रखवाने और उनका समुचित उपयोग करने हेतु नागरिकों को प्रोत्साहित करने को कहा। निगम आयुक्त लवानिया ने स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 की गाईड लाईन के मुताबिक सफाई व्यवस्था में लापरवाही बरतने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही किए जाने की हिदायत भी दी।  
निगम आयुक्त अविनाश लवानिया ने स्वच्छता प्रभारियों को निर्देशित किया है कि गंदगी फैलाने वालों के विरूद्ध स्पॉट फाईन की कार्यवाही को और अधिक प्रभावी बनाया जाए। निगम आयुक्त लवानिया ने सभी स्वच्छता प्रभारी अपने-अपने क्षेत्रों में गंदगी फैलाने वालों के विरूद्ध स्पॉट फाईन की कार्यवाही अनिवार्य रूप से करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी एन.जी.ओ. के प्रतिनिधियों को हिदायत दी है कि वह प्रतिदिन डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन कार्य में संलग्न कर्मियों को कचरा पृथक्कीकरण कार्य को प्राथमिकता देवे और नियमित रूप से अपने-अपने क्षेत्रों में निरीक्षण भी करें।