रांची। विधानसभा चुनाव माथे पर है। सो, झारखंड के मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने भी मौकों को भुनाने की हर मुमकिन कोशिश शुरू कर दी है। नवंबर-दिसंबर में संभावित झारखंड विधानसभा चुनाव से पहले वे हर मोर्चे को साधने की जुगत में हैं। बीते दिन दिल्‍ली दौरे पर उन्‍होंने इसकी भरपूर झलक दिखाई। एक-एक कर वे पांच केंद्रीय मंत्रियों से मिले और झारखंड के विकास की बाधाओं को दूर करने की पूरी कोशिश की। सड़क, उद्योग, पुनर्वास, नदी, विश्‍वविद्यालय से लेकर खनन-परिवहन हर क्षेत्र में नई लकीरें खींचने की यह कवायद एक बार फिर झारखंड की सत्‍ता पर काबिज होने की उनकी मनोदशा को दर्शाता है। सीएम रघुवर दास ने दिल्‍ली में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू से मिलकर अपना कद भी बढ़ाया। आइए आसान शब्‍दों में समझते हैं कि ऐन चुनाव से पहले सीएम रघुवर दास के दिल्‍ली दौरे के क्‍या हैं मायने... क्‍या दिल्‍ली दौरे के मौके पर चौका मार आए रघुवर दास?

मुख्यमंत्री ने पांच केंद्रीय मंत्रियों से की मुलाकात 
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पांच केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात कर झारखंड के लिए कई सौगातें बटोरीं। मुख्यमंत्री ने एक ही दिन केंद्रीय वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन और सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, नागरिक उड्डयन और आवास तथा नगरीय मामलों के मंत्री हरदीप पुरी, कोयला एवं खनन मंत्री प्रह्लाद जोशी और केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के साथ अलग-अलग विषयों पर बैठक की। बैठक का सार्थक फलाफल भी निकला। केंद्रीय मंत्रियों ने झारखंड के संदर्भ में कई लंबित विषयों पर तत्काल निर्णय लिया।
 
साहिबगंज से धामरा बंदरगाह तक 790 किमी सड़क 
साहिबगंज से धामरा बंदरगाह तक 790 किमी लंबी सड़क को भारतमाला सड़क परियोजना में शामिल करते हुए इसके निर्माण कार्य को अंजाम दिया जाएगा। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के साथ मुख्यमंत्री रघुवर दास की हुई बैठक में इस बाबत सहमति बनी। साहिबगंज-धामरा प्रोजेक्ट दुमका-धनबाद, पुरुलिया-चांडिल-बहरागोड़ा-बालासोर व धामरा बंदरगाह को जोड़ेगा। बैठक में देवघर-बासुकीनाथ 43 किमी पथ के फोर लाइनिंग का कार्य एनएचएआइ के द्वारा शीघ्र प्रारंभ करने और धनबाद के गया पुल के चौड़ीकरण का कार्य स्वीकृत कर प्रारंभ किए जाने पर भी सहमति बनी। पूर्व के प्राजेक्ट संबलपुर-सुंदरगढ़-राउरकेला-खूंटी व रांची 325 किमी पथ एवं रायपुर-बिलासपुर-गुमला-रांची-बोकारो व धनबाद 707 किमी पथ की स्वीकृति व कार्यान्वयन प्राथमिकता से कराने की सहमति बनीं। गढ़वा-रेहला बाईपास का निर्माण कार्य जल्द करने और गुमला बाईपास तथा बंदगांव-चक्रधरपुर पथ के शेष भाग को पूर्ण करने की स्वीकृति तकरीबन बन गई है।

एचईसी के विस्थापितों की चिंता खत्‍म
एचईसी की 306 एकड़ भूमि पर रह रहे परिवारों को पुनर्वासित करने पर सहमति बन गई है। एचईसी की जमीन पर झुग्गी- झोपड़ी में रहने वाले परिवारों को 107 एकड़ भूमि पर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर बनाकर पुनर्वासित किया जाएगा। 

कैंपा फंड में झारखंड को मिलेंगे 4026 करोड़ रुपये 
केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के साथ हुई बैठक में क्षतिपूर्ति वनीकरण कोष प्रबंध एवं योजना प्राधिकरण (कैंपा) की राशि जारी करने पर सहमति बन गई है। झारखंड को कैंपा फंड के 4046.19 करोड़ रुपये मिलने थे। केंद्रीय मंत्री ने अपने सचिव को तत्काल यह राशि झारखंड को निर्गत करने का निर्देश दिया है।

दुमका में कामर्शियल पायलट ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट 
दुमका में पीपीपी मॉडल पर कामर्शियल पायलट ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट खुलेगा। इसके लिए केंद्र सरकार ने एनओसी देने की सहमति दे दी है। नागरिक उड्डयन और आवास तथा नगरीय मामलों के मंत्री हरदीप पुरी के साथ मुख्यमंत्री की हुई बैठक में इस बाबत सहमति बनी। हरदीप पुरी ने इस संबंध में अपने सचिव को 16 जुलाई को बैठक करने का निर्देश दिया है। हरदीप पुरी के साथ शहरी विकास योजनाओं और नागरिक उड्डयन के अन्य विषयों पर भी लंबी चर्चा हुई। 

देवघर में संस्कृत विश्वविद्यालय
देवघर में संस्कृत विश्वविद्यालय खोलने के लिए केंद्र सरकार आर्थिक अनुदान देगी। झारखंड सरकार इसी मानसून सत्र में विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए विधेयक लाएगी। मुख्यमंत्री ने मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के साथ बैठक के क्रम में राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) के तहत पांच नए मॉडल डिग्री कॉलेज के लिए राशि उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। रूसा के अंतर्गत ही वर्तमान में संचालित 13 डिग्री कॉलेज को मॉडल डिग्री कॉलेज में अपग्रेड करने एवं दो नए व्यावसायिक कॉलेज खोलने की मांग मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से की है।

आदिवासी विश्वविद्यालय का कैंपस झारखंड में
झारखंड में जनजातीय विश्वविद्यालय खोलने की लंबित मांग को लेकर मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और मुख्यमंत्री के बीच चर्चा हुई। सहमति बनी कि मध्य प्रदेश (अमरकंटक) में चल रहे आदिवासी विश्वविद्यालय का कैंपस झारखंड में खुलेगा।

स्वर्णरेखा व दामोदर नदी का होगा उद्धार  
बड़ी नदियों के कैचमेंट एरिया को विकसित करने की योजना में झारखंड की स्वर्णरेखा और दामोदर नदी को भी शामिल किया गया है। पर्यावरण वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने इसपर अपनी सहमति दे दी है। बड़ी नदियों के कैचमेंट एरिया को विकसित करने की योजना में झारखंड की स्वर्णरेखा और दामोदर को भी शामिल किए जाने पर भी सहमति बनी। देश की नौ नदियों में दामोदर और स्वर्णरेखा को शामिल किए जाने की सहमति केंद्रीय मंत्री ने दी दी। शीघ्र ही इससे जुड़ी प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा। सीएम ने फारेस्ट क्लीयरेंस से जुड़े विषयों को भी उठाया।

शुरू होंगे नए कोल ब्‍लॉक 
झारखंड में नए कोल ब्लॉक शुरू करने पर भी सहमति बनी है। कोल इंडिया सीएसआर फंड के तहत झारखंड में कौशल विकास सहित जन उपयोगी कार्यों व योजनाओं पर खर्च करेगी। अवैध खनन पर रोकने के लिए केंद्र व राज्य मिलकर काम करेंगे। इसके लिए आधुनिक तकनीक का उपयोग किया जाएगा। केंद्रीय कोयला और खान मंत्री प्रह्लाद जोशी के साथ बैठक के इस संदर्भ में सहमति बनी। इस बीच मुख्यमंत्री रघुवर दास ने दिल्ली में गोल मार्केट के समीप बन रहे नए झारखंड भवन के निर्माण कार्यों का जायजा लिया। मुख्यमंत्री को बताया गया कि निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। नया भवन नियत समय में बनकर तैयार हो जाएगा।