भोपालः मध्य प्रदेश में प्रशासनिक कर्मचारियों के बाद अब कुत्तों के तबादले का भी दौर शुरू हो गया है. मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने पीटीएस डॉग 23वीं वाहिनी विशेष सशस्त्र बल के कुल 46 कुत्तों के ट्रांसफर का आदेश जारी कर दिया है. इन कुत्तों के साथ ही उनके हैंडलर्स का भी ट्रांसफर किया गया है. बता दें कमलनाथ सरकार ने जिन 46 कुत्तों का ट्रांसफर किया है उनमें स्निफर, नार्को और ट्रेकर डॉग्स शामिल हैं.

दरअसल, पुलिस विभाग के डॉग हैंडलर्स के तबादले किए गए हैं, ऐसे में सरकार को उनके साथ उनके डॉग्स को भी इधर से उधर-उधर करना पड़ा. ताकि डॉग्स को संभालने में किसी तरह की दिक्कत न हो. कुत्तों के तबादले की इस लिस्ट में खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ का गृह जिला भी अछूता नहीं रह गया है. बता दें छिंदवाड़ा से डफी नाम के जिस स्निफर डॉग का ट्रांसफर किया गया है, वह अब से मुख्यमंत्री आवास में अपनी सेवाएं देगा.
 

वहीं कुत्तों के तबादले की लिस्ट आने के बाद विपक्षी दलों ने प्रदेश की वर्तमान कमलनाथ सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है. भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष ने भी प्रदेश में कुत्तों के तबादले को लेकर कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा है और ट्वीट करते हुए कहा कि 'हाय रे बेदर्दी कांग्रेस सरकार कुत्तो को तो छोड़ देते ... ! पुलिस विभाग ने किए कुत्तो के थोकबंद तबादले. कांग्रेस की कमलनाथ सरकार का वश चले और कोई माल देने वाला मिल जाए तो वो जमीन और आसमान का स्वयं के व्यय पर तबादला कर दे.'
वहीं एक अन्य नेता विजेश लुणावत ने ट्वीट करते हुए लिखा कि 'वाह री कमलनाथ सरकार तबादला उद्योग में कुत्तों को भी नहीं छोड़ा. मध्यप्रदेश में डॉग स्क्वाड के ट्रांसफर, वक्त है बदलाव का.'