नई दिल्ली । नींद पूरी न होना एक वैश्विक समस्या बनती जा रही है। कई देशों में लोग नींद पूरी न हो पाने के कारण परेशान हैं। लेकिन, हाल ही में हुए एक सर्वे के अनुसार पूरी नींद लेने के मामले में भारतीय अव्वल हैं। भारतीयों ने चीन और सउदी अरब के लोगों को भी पीछे छोड़ दिया है। मार्केट रिसर्च फर्म केजेटी और फिलिप्स के हालिया सर्वे में यह बात सामने आई है। सर्वे 12 देशों के 18 और इससे अधिक उम्र के 11,006 लोगों पर किया गया है। सर्वे में सामने आया कि दुनियाभर के 62 फीसदी लोगों को रात में नींद नहीं आती।सर्वे के मुताबिक, पूरी नींद लेने के मामले में साउथ कोरिया और जापान के लोगों की स्थिति बेहद गंभीर है। दुनियाभर में लोग औसतन 6.8 घंटे की ही नींद ले पाते हैं। वहीं, सप्ताहांत की रात में ये आंकड़ा बढ़कर 7.8 घंटे हो जाता है। आमतौर पर विशेषज्ञ आठ घंटे नींद लेने की सलाह देते हैं लेकिन हर 10 में से 6 लोग सप्ताहांत में ही नींद पूरी कर पाते हैं। सर्वे के अनुसार, पिछले 5 सालों में हर 10 में से 4 लोगों की नींद पर बुरा असर पड़ा है। वहीं, 26 %लोगों का कहना है कि नींद पहले से बेहतर हुई है। सर्वे में शामिल 31 %लोग ऐसे भी हैं जिनका कहना है कि नींद की वजह से कुछ भी नहीं बदला है।