नैशनल अवॉर्ड विजेता सनी देओल ने कहा कि ऐक्टिंग कोई आसान पेशा नहीं है। ऐक्टिंग एक दृढ़ संकल्प है, यह एक सपना है और आपको फिल्मों को लेकर जुनूनी होना होगा। तभी आप ऐक्टिंग करना शुरू कर सकते हैं। 'घायल', 'दामिनी', 'गदर : एक प्रेमकथा', 'बॉर्डर', जैसी कई फिल्मों में अपनी ऐक्टिंग से प्रभावित करने वाले सनी देओल ने आगे कहा कि सिर्फ प्रतिभा होना ही काफी नहीं है, आपको एक इंसान के तौर पर भी मजबूत बनना पड़ेगा, जिससे कि आप कठिनाइयों का सामना करना सीख सकें और ईमानदारी के साथ आगे बढ़ें। यह काफी महत्वपूर्ण हैं।  फिल्म इंडस्ट्री में अपनी अलग पहचान बनाने वाले ऐक्टर सनी देओल का मानना है कि सिर्फ डांस सीख लेने और बॉडी बना लेने से कोई ऐक्टर नहीं बन जाता। ऐक्टिंग इससे कहीं अधिक बढ़कर है।