मुंबई । उरूग्वे के स्टार फुटबालर डिएगो फोरलान ने कहा कि भविष्य में मौका मिलने पर वह भारतीय फुटबॉल टीम के कोच बनना चाहेंगे। आईएसएल में मुंबई सिटी एफसी के लिये खेल चुके फोरलान ने कहा, ‘निश्चित तौर पर मैं भारत फिर आना चाहूंगा। इसका कारण यह है कि मेरा यहां खेलने का अनुभव शानदार रहा है। यहां के लोगों ने मेरा और मेरा परिवार का गर्मजोशी से स्वागत किया। यहां के कुछ खिलाड़ियों से मेरी अच्छी दोस्ती है।’ विश्व कप 2010 के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे फोरलान ने द. अमेरिका से फुटबॉल कोचिंग का लाइसेंस हासिल कर लिया है जिससे वह दक्षिण अमेरिका के अलावा भारत समेत एशिया के किसी भी देश में कोचिंग दे सकते हैं। उनका इरादा हालांकि यूरोप में कोचिंग लाइसेंस लेने का है। भारतीय फुटबॉल की प्रगति से प्रभावित मैनचेस्टर युनाइटेड और एटलेटिको मैड्रिड के इस स्टार फुटबालर ने कहा कि भारत को मजबूत टीमों में आने में अभी समय लगेगा और इसके लिये जमीनी स्तर पर काम करने के अलावा बेहतर बुनियादी ढांचे की जरूरत है। उन्होंने कहा,‘फुटबॉल को भुनाने के लिये उन शहरों से शुरूआत करनी चाहिये जहां क्रिकेट से ज्यादा लोकप्रिय फुटबॉल है। इसके बाद वहां से दूसरे शहरों में जाना चाहिये।’