इस्लामाबाद। भारतीय वायुसेना को मिले लड़ाकू विमान राफेल को लेकर पाकिस्तान बेचैन हो गया है। यह बेचैनी गुरुवार को पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की साप्ताहिक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दिखाई दी। राफेल पर पूछे गए सवाल पर पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने राफेल से नहीं डरने की बात कही। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा, हम इसपर पहले भी बात कर चुके हैं। हमारा रुख वहीं है, पाकिस्तान किसी हथियार की रेस में शामिल होने को तैयार नहीं हैं। हमारी सरकार का फोकस डिवेलपमेंट, एजुकेशन, हेल्थ आदि हैं।' 
डरे पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता फैसल ने कहा,हम सारी दुनिया को कहते हैं कि इस इलाके को हथियारों की रेस में न धकेलें। अगर कहीं जरूरत पड़ी तो हम अपनी रक्षा करना जानते हैं,चाहे वह राफेल हो या कई भी हो।' फैसल ने फिर से कश्मीर का मुद्दा उठाते हुए भारत पर कई तरह के आरोप भी लगाए। 
करतारपुर साहिब गलियारे एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि गलियारे के उद्घाटन समारोह के लिए भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को औपचारिक तौर से निमंत्रण भेजा गया है। उन्होंने कहा कि गलियारे का काम पूरे जोर-शोर से चल रहा है और यह तय समय पर पूरा हो जाएगा। इसका उद्घाटन उसी तारीख को होगा जिसका वादा प्रधानमंत्री इमरान खान ने किया था। एक अन्य सवाल के जवाब में प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान, इस्लामाबाद में होने वाले दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) के शिखर सम्मेलन की तारीखों पर काम कर रहा है। तारीख तय होने पर इसकी जानकारी साझा की जाएगी।