नई दिल्ली । देश भर में कोरोना संक्रमण के मामले में तेजी से वृद्धि हो रही है। इसी बीच देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह 11 बजे ‘मन की बात’ के जरिए देश को संबोधित करेंगे। लॉकडाउन के दौरान वह तीसरी बार जनता को इस कार्यक्रम के माध्यम से संबोधित करने जा रहे हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने बीते सोमवार को इस कार्यक्रम के लिए जनता से सुझाव भी मांगे थे। 31 मई लॉकडाउन 4 की समय सीमा समाप्त हो रही है और गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन‑5 के लिए गाइडलाइन जारी की है। बीते सोमवार को प्रधानमंत्री ने मन की बात कार्यक्रम के लिए ट्वीट कर लोगों से सुझाव मांगे थे। इसमें उन्होंने लिखा था कि ’31 मई को होने वाले मन की बात कार्यक्रम के लिए मैं आपके सुझावों का इंतजार करूंगा। इसके लिए आप 1800–11-7800 पर संदेश रिकॉर्ड करके भेज सकते हैं। साथ ही नमो एप या माईगॉव पर भी लिखकर भेज सकते हैं।’

वहीं, ‘मन की बात’ के 63वें संस्करण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ भारत में जारी जंग पूरी तरह से जनता द्वारा जनता के नेतृत्व में लड़ी जा रही है और जन जन इस लड़ाई में सिपाही बनकर इसका नेतृत्व कर रहा है। पीएम मोदी ने कहा था कि जब कभी भविष्य में इस महामारी का इतिहास लिखा जायेगा तो कोरोना के खिलाफ भारत की जंग को जनता के नेतृत्व में लड़ी गयी लड़ाई के रूप में याद किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस बीमारी ने विभिन्न क्षेत्रों में समाज की सोच को भी बदला है।

मोदी ने कहा कि भले ही कारोबार हो, कार्यालय की संस्कृति हो, शिक्षा हो या चिकित्सा क्षेत्र हो, हर कोई कोरोना वायरस महामारी के बाद की दुनिया में बदलावों के अनुरूप खुद को ढाल रहा है। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड‑19 वैश्विक महामारी के खिलाफ राज्य सरकारों के योगदान की भी सराहना की और कहा कि उन्होंने इस अभियान में बेहद सक्रिय भूमिका निभाई है।