मुम्बई । कोरोना वायरस महामारी के कारण पिछले दो महीने से दुनिया भर में क्रिकेट मुकाबले बंद हैं। वहीं लॉकडाउन में राहत मिलने के बाद अब खेल की फिर बहाली का प्रयास किया जा रहा है। इसी बीच अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने खेल की दोबारा बहाली को देखते हुए कुछ दिशानिर्देश दिये हैं। ऐसे में जब खेल फिर शुरु होग तो उसमें कुछ बदलाव नजर आयेंगे जैसे खिलाड़ी हाथ नहीं मिला सकेंगे। गेंद को चमकाने के लिए लार का इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा। इसी को लेकर स्पिनर युजवेंद्र चहल  से जब पूछा गया तो चहल ने कहा कि 
आईसीसी के जो दिशानिर्देश  होंगे उनका पालन तो होगा ही इसलिए खेल में कितना बदलावा आयेगा अभी इसको लेकर कुछ नहीं कहा जा सकता है। इस युवा स्पिनर ने कहा कि अभी जो हालात हैं वैसे हालात कभी देखने में नहीं आये हैं। इसलिए जब तक मैदान में नहीं उतरेंगे, तब तक पता नहीं चलेगा। पहले कभी ऐसी परिस्थितियों में क्रिकेट नहीं खेला गया है।'
वहीं इस खिलाड़ी ने खाली स्टेडियम में क्रिकेट खेलने पर कहा कि यह थोड़ा अलग होगा क्योंकि हमें हमेशा से ही दर्शकों के बीच में खेलने की आदत है। इसके साथ ही अंतरराष्ट्रीय मैचों में फर्स्ट क्लास क्रिकेट जैसा अनभव होगा क्योंकि इन मैचों में भी दर्शक नजर नहीं आते पर कहा कि अभी इसका कोई विकल्प फिलहाल नहीं है क्योंकि जिंदगी सबसे पहले है। वहीं उन्होंने गेंद चमकाने के लिए लार के इस्तेमाल पर लगने वाले प्रतिबंध पर कहा कि अभी तक ऐसा कभी नहीं हुआ, इसलिए अब गेंद का क्या प्रभाव पड़ेगा यह कहा नहीं जा सकता है।