पूर्वी चंपारण । बिहार के पूर्वी चंपारण में एक युवती के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप में गांव के लोगों ने एक मुस्लिम युवक की पीटाई कर दी। इस दौरान युवक के गर्दन पर चोट लग गई। इसे लेकर सत्ता और विपक्षी दलों के नेता राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं। राजनीति के जानकारों ने कहा कि प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मामले को तूल दिया जा रहा है। बताया जाता है कि नर्सिंग होम एक राजद नेता का है, जो पीपरा विधानसभा क्षेत्र से राजद के प्रत्याशी होने के लिए सुप्रीमों के दरबार में हाजरी लगा रहे हैं। दरअसल, मेहसी मेन गांव के निवासी मो. इजराइल अपने कुछ दोस्तों के साथ पड़ोस के गांव बथना में गया था, जहां युवती के साथ छेडछाड़ के आरोप में गांव के ही कुछ युवकों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी। इसके बाद घायल इजराइल को इलाज के लिए मेहसी और मोतिहारी के अस्पतालों की जगह जीवधारा बाजार के एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया। जहां इजराइल ने पुलिस को दिए अपने बयान में 6 लोगों को आरोपित करते हुए एक धर्म विशेष के नारे न लगाने पर चाकू से मारने का आरोप लगाया है। घायल इजराइल के बयान के आधार पर पुलिस ने 6 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की है। वहीं, पीड़ित के भाई मो.रमजान ने भी इजराइल की बातों की पुष्टि करते हुए कहा कि नारे नहीं लगाने की सजा मिली है। वहीं उसके संबंधी मो.ताहिर घटना के कारणों से इंकार करते है। वहीं, पीपरा के भाजपा विधायक श्यामबाबू यादव ने कहा कि कुछ लोग इसे राजनीतिक हवा देना चाहते हैं, लेकिन प्रशासन अपना काम कर रहा है और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि समाज के सौहार्द को बिगडने नहीं दिया जाएगा। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी मेहसी ने थाने में पहुंचकर मामले की जांच की है। एसपी नवीन चन्द्र झा ने कहा कि आरोप गंभीर लग रहे है,लेकिन जांच के पहले चरण में मामला कुछ और ही सामने आ रहा है। हालांकि इस मामले की पेशेवर ढंग से जांच होगी।