जोहांसबर्ग । दक्षिण अफ्रीका की क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान एबी डिविलियर्स ने अपने संन्यास का लेकर अहम खुलासा किया है। डिविलियर्स ने कहा कि साल 2015 विश्व कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से मिली हार से वह बेहद निराश थे। इसी कारण उन्होंने अचानक ही अंतररराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने का फैसला किया था। डिविलियर्स ने स्वीकार किया कि उन्हें इस हार के झटके से उबरने में काफी समय लगा। डिविलियर्स ने कहा, ‘‘इसने मुझे तोड़ दिया था लेकिन मैंने खेलना जारी रखा, मैंने हर संभव प्रयास किया, क्रिकेट से जुड़े रहने की कोशिश की। मैं काफी अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था। मेरी अब भी बेहतरीन यादें हैं।’’ 36 साल के डिविलियर्स ने 2018 में 14 साल के अपने अंतरराष्ट्रीय करियर को अलविदा कह दिया था जबकि वह उस समय अपने खेल के शीर्ष पर थे। वहीं डिविलियर्स ने उस समय अपने संन्यास का कारण बताते हुए कहा था कि वह थकान का अनुभव कर रहे हैं। 114 टेस्ट में 8765 और 228 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 9577 रन बनाने वाले डिविलियर्स ने कहा, ‘‘निजी नजरिए से कहूं तो उस हार ने मेरे संन्यास में अहम भूमिका निभाई थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘उस रात हम खेल से हार गए और उस साल मेरे लिए उस हार से उबरना कठिन था क्योंकि मैं काफी संवेदनशील हूं।’’ दक्षिण अफ्रीका की टीम विश्व कप में कभी उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाई और उसे 1992 और 1999 की प्रतियोगिताओं में भी निराशा का सामना करना पड़ा था। 2019 विश्व कप से पहले उन्होंने टीम में वापसी की भी पेशकश की थी पर उन्होंने अवसर नहीं मिला था।