भोपाल । कोरोना काल के चलते रोजगार बिगडऩे से एक ओर जहां लोगों के जीवन में अंधेरा छाया हुआ है, वहीं बिजली कंपनी उनके घरों में अंधेरा करने पर तूली हुई है। भोपाल शहर में ऐसे करीब 25 हजार से ज्यादा उपभोक्ता हैं, जिन्होंने तीन-चार माह से बिजली का बिल अदा नहीं किया। अपने पैसे बटोरने के टारगेट को पूरा करने के लिए अब बिजली कंपनी हर दिन ऐसे 500 से ज्यादा घरों की बत्ती गुल कर रही है। लोगों का कहना है कि काम-धंधा नहीं है, बिजली बिल जमा कैसे करें।
 शहर में बिजली कंपनी के पास करीब एक लाख बकायादार उपभोक्ता हैं, लेकिन 25000 से ज्यादा ऐसे उपभोक्ता कंपनी बता रही है, जिन्होंने मार्च या इसके बाद के बिजली बिल जमा नहीं किए हैं। वहीं कई उपभोक्ता ऐसे भी निकले, जिन्होंने सालभर या इससे ज्यादा समय से बिजली बिल जमा नहीं किया और उनके वहां कनेक्शन लगातार चालू है। कर्मचारियों की गलतियों को सुधारना और इन पर नियंत्रण रखना एक कठिन काम है। बिजली बिलों की वसूली कंपनी राजस्व के लिए जरूरी है, इसलिए इसके लिए अभियान चलाया जाएगा। लोगों की बिजली संबंधित शिकायतों का समाधान भी किया जा रहा है। इसके अलावा बिजली कंपनी के अधिकारी शिविरों के माध्यम से समस्याओं के निराकरण का प्रयास करने की भी योजना बना रहे हैं, ताकि उपभोक्ताओं को किसी तरह की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े।
परेशानियां
लॉकडाउन के कारण इंदौर में काम-धंधे की दिक्कतें चल रही हैं। लोग परेशान हैं कि घर के लिए राशन खरीदें, अन्य जरूरी सामान देखें या बिजली बिल जमा करें। यह परेशानी झोन व व्यापारिक स्थलों पर आम बात है। कंपनी के निचले अमले का कहना है कि हम बिजली बिल वसूल करने जाते हैं तो लोग अपनी परेशानियां गिनाना शुरू कर देते हैं।