शाहजहांपुर| शाहजहांपुर जिले के कलान तहसील क्षेत्र के पटना देवकली शिव मंदिर में अक्षय तृतीया के अति शुभ मुहूर्त में एक विवाह हुआ। केवल 17 मिनट में वर वधू ने सात फेरे लिए। दूल्हे के सिर पर न सेहरा था, न दूल्हा घोड़ी पर बैठ कर आया। न ही बैंड बाजा था। कोरोना के कारण लगी बंदिशों के कारण ऐसी शादी हुई।
गुरु शुक्राचार्य की पावन तपोभूमि पटना देवकली शिव मंदिर पर महंत गिरी द्वारा सनाय के रहने वाले भाजपा महामंत्री व मीडिया कर्मी पुष्पेंद्र दुबे और हरदोई की प्रीति दुबे का विवाह सम्पन्न कराया गया। बेहद सादे समारोह में हुई शादी पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है। वर-वधू बिना किसी बैंड बाजा व बारात के मात्र 17 मिनट में जीवन की डोर में बंध गए। शादी समारोह में उपस्थित मेहमानों समेत वर वधू ने दहेज प्रथा का विरोध करते हुए यह जागरूकता संदेश युवाओं को दिया।
पुष्पेंद्र ने लड़की वालों से बतौर शगुन एक रामायण ली। पुष्पेंद्र कहा कि हमें लोगों को बेटी की अहमियत समझनी चाहिए। उनकी जीवनसंगिनी बनी प्रीति ने बताया कि  दहेज प्रथा ने बहुत से परिवारों को तबाह कर दिया है। इसे खत्म करने के लिए युवा वर्ग को आगे आना होगा।