काजा (लाहौल स्पीति). हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति में ट्रेकिंग के लिए खमींगर ग्लेशियर गया 16 ट्रेकर्स का दल वहां फंस गया है. बर्फबारी और ठंड के चलते यहां दो लोगों की मौत हो गई है, जबकि अन्य फंसे हुए हैं. सूचना मिलने के बाद अब जिला प्रशासन ने इनके बचाव के लिए अभियान शुरू कर दिया है. इसके लिए अब एक 32 सदस्यीय बचाव दल का गठन किया गया है.लाहौल स्पीति के डीसी नीरज कुमार ने बताया कि खमींगर ग्लेशियर में फंसे 16 ट्रेकर्स को रेस्कयू करने का कार्य प्रशासन ने शुरू कर दिया है. स्पीति प्रशासन को सोमवार सुबह 16 सदस्यीय दल के दो सदस्यों ने काजा में आकर सूचना दी कि उनके अन्य साथी खमींगर गलेशियर में फंसे हुए है, जिनमें से दो ट्रेकर की मौके पर मौत हो चुकी है, जबकि अन्य साथी अभी वहीं पर फंसे हुए है. अभी 14 सदस्य फंसे हुए है. प्रशासन ने 32 सदस्यीय रेस्क्यू टीम का गठन कर दिया है. इस टीम में 16 आईटीबीपी के जवान, 6 डोगरा स्काउट के जवान, एक चिकित्सक भी हैं. इसके साथ ही 10 पोटर बोझा उठाने के तौर पर काम करेंगे.

 

बंगाल का दल गया था
डीसी नीरज कुमार ने बताया कि 15 सितंबर को इंडियन माउंटेनियरिंग फांउडेशन पश्चिम बंगाल की छह सदस्यों वाली टीम बातल से काजा वाया खमींगर ग्लेशियर ट्रेक को पार करने के लिए रवाना हुआ था. इनके साथ 10 पोटर भी शामिल है. प्रशासन को मिली सूचना के मुताबिक तीन ट्रेकर, एक शेरपा यानी लोकल गाइड और 10 पोटर भी खंमीगर गलेशियर गए हैं. ग्लेशियर की ऊंचाई करीब 5034 मीटर है. ट्रैकर्स इसमें फंसे हुए हैं. बचाव दल को को खमींगर पहुंचने में तीन दिन लगेंगे. हेलीकॉप्टर के माध्यम से रेस्क्यू करने के लिए बातचीत की गई है. वहां पर हेलीकॉप्टर के माध्यम से नहीं पहुंचा जा सकता है, इसलिए 32 सदस्यीय रेस्क्यू दल का गठन किया गया है.

 

कहां से शुरू होगा रेस्क्यू
रेस्क्यू पिन घाटी के काह गांव से शुरू होगा. पहले दिन 28 सितंबर को काह से चंकथांगो, दूसरे दिन चंकथांगो से धार थांगो और अंतिम दिन धारथांगो से खमींगर ग्लेशियर रेस्क्यू टीम पहुंचेगी. वहीं तीन दिन वापस खमींगर से काह पहुंचने में लगेंगे.


मृतक के नाम और पते
भास्कर देव मुखोपाध्याय (61) सनराईज अपार्टमेंट, 87डी आनंदपुर बैरकपुर, कोलकाता, पश्चिम बंगाल और संदीप कुमार ठाकुराता (38) थ्री राइफल, रेंज रोड, प्लाट नंबर जेड, पूव्यान अवासन, बेलगोरिया, पश्चिम बंगाल की मौत हो गई है. देबाशीष बर्धन (58) मिलन पार्क गरिया, कोलकाता, पश्चिम बंगाल, रणधीर राय उम्र 63 वर्ष रामकृष्ण पाली, कोगाच्छी श्यामनगर, कोलकाता, पश्चिम बंगाल, तपस कुमार दास (50) सेंट 78, क्यूआरएस 28-3 चिंतरंजन बर्धवान, पश्चिम बंगाल और अतुल (42), कोलकाता, पश्चिम बंगाल अभी फंसे हुए हैं. इनके साथ दस पोटर भी शामिल हैं.