नई दिल्ली| आज दिल्ली में एक कार्यक्रम के तहत सीपीआई नेता कन्हैया कुमार और निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी ने कांग्रेस के साथ आगामी चुनाव लड़ने की घोषणा की। यहां कार्यक्रम के दौरान कन्हैया कुमार ने कांग्रेस तो ज्वाइन कर ली लेकिन जिग्नेश ने कांग्रेस पार्टी की औपचारिक सदस्यता नहीं ली। इसके पीछे उन्होंने कारण भी बताया है।
मीडिया से बातचीत में जिग्नेश मेवानी ने कहा कि वे तकनीकी कारणों से कांग्रेस पार्टी ज्वाइन नहीं कर सकते हैं। क्योंकि वे अभी गुजरात में निर्दलीय विधायक हैं और अगर कांग्रेस ज्वाइन करते हैं तो वे विधायक नहीं रह पाएंगे। हालांकि जिग्नेश ने आगे कहा कि वे कांग्रेस पार्टी की विचारधारा के साथ हैं और उसी के तहत आगे कार्य करते रहेंगे। जिग्नेश ने ये भी कहा कि आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव में वे कांग्रेस पार्टी के चुनाव चिन्ह के साथ ही मैदान में उतरेंगे। 
वहीं, दूसरी तरफ कन्हैया कुमार ने कांग्रेस पार्टी ज्वाइन की। इस दौरान कन्हैया कुमार ने कहा कि उन्हें गर्व है कि वे देश की सबसे पुरानी और लोकतांत्रिक पार्टी के साथ जुड़ रहे हैं। कन्हैया कुमार ने आगे कहा कि कांग्रेस देश का सबसे मजबूत विपक्ष है और अगर कांग्रेस नहीं रहा तो देश भी नहीं रह पाएगा।