रीवा l विधानसभा अध्यक्ष श्री गिरीश गौतम ने गत दिवस प्रजापिता ब्राहृाकुमारी संस्थान  रीवा में दया एवं करुणा के द्वारा आध्यात्मिक सशक्तिकरण विषय पर आयोजित कार्यशाला का शुभारंभ  किया। इस अवसर पर उन्होंने जिले में कोरोना काल में उत्कृष्ट कार्य करने वाले चिकित्सकों, बुद्धिजीवियों, समाजसेवियों  एवं नागरिकों का अभिनंदन एवं सम्मान किया।                

विधानसभा अध्यक्ष श्री गौतम ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि कोरोना काल की संकट की घड़ी में स्वयं जान की परवाह न करते हुए संक्रमित मरीजों की जान बचाई एवं कोरोना से बचाने के लिए अविस्मरणीय एवं साहसिक कार्य करने वाले सभी व्यक्ति प्रेरणा के श्रोत व प्रसंशा के पात्र हैं। कोरोना संकट में इन सभी के द्वारा किए गए सेवा के कार्यों को समाज कभी भुला नहीं पाएगा। उन्होंने ने कहा कि ब्राहृाकुमारी संस्थान द्वारा आयोजित वार्षिक कार्य योजना दया एवं करुणा द्वारा आध्यात्मिक सशक्तिकरण बहुत ही श्रेष्ठ और समय के अनुकूल है। अपने जीवन को सुसंसकारी बनाते हुए हम दया एवं करूणा से एक दूसरे की मदद करें।   उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के विभिन्न कार्यक्रमों द्वारा हमें समाज में जागरूकता लानी है ताकि आने वाले समय में समाज , देश एवं आने वाली पीढ़ी के सामने एक अच्छा व प्रभावी आदर्श प्रस्तुत हो सके। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा प्रजापिता ब्राहृाकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय मानव समाज के लिए एक प्रकाश स्तंभ बन कर विश्व की सभी दिशाओं को आलोकित कर रहा है। ब्राहृाकुमारी जैसे संस्थान सभी को मूल्यनिष्ठ एवं दिव्य संस्कार की शिक्षा देते हैं जिससे एक चरित्रवान समाज का निर्माण होता है। कार्यक्रम में मानवीय मूल्यों में। दया एवं करुणा के। प्रति मानव की क्या संवेदनाएं होती हैं विषय पर बुद्धिजीवियों के वक्तव्य हुए। इसके साथ-साथ प्रजापिता ब्राहृाकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय मानवता की सेवा में क्या-क्या योगदान कर रहा है इसका संपूर्ण परिचय भी इस कार्यक्रम में दिया गया। कार्यक्रम में बहन निर्मला, एसडीएम अनुराग तिवारी, भाई प्रकाश सहित समाजसेवी, चिकित्सक एवं गणमान्य नागरिक तथा ब्राहृाकुमारी आश्रम परिवार के सदस्य गण उपस्थित रहे।