रीवा 08 जनवरी 2022. विटामिन ए की कमी से होने वाले कुपोषण को दूर करने के उद्देश्य से 9 माह से पांच वर्ष तक के बच्चों को 11 जनवरी से 12 फरवरी तक विटामिन ए घोल पिलाया जाएगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीएल मिश्रा ने बताया कि विटामिन ए की कमी से बच्चों में शारीरिक विकास के अवरूद्ध होने के साथ ही नेत्र रोग व दस्त संक्रमण होता है जिससे बाल मृत्यु दर बढ़ती है। इसे रोकने के लिए विटामिन ए की खुराक पिलाई जाएगी। उन्होंने सभी आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को निर्देशित किया है कि कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए सत्र स्थल में नियमित अंतराल पर सीमित संख्या में बच्चों को बुलाकर विटामिन ए का घोल पिलाएं। उल्लेखनीय है कि जिले में 2 लाख 29 हजार 984 बच्चों को विटामिन ए का घोल पिलाया जाएगा। उन्होंने अभिभावकों से अपील की है कि उक्त कार्यक्रम में सभी सहयोग करें तथा पपीता, गाजर, केला, आम एवं अण्डा जिनमें विटामिन ए के रुाोत पाए जाते हैं उनका सेवन बच्चों को करवाएं।