रीवा में दो माह में आठ हजार युवाओं को मिला स्वरोजगार - पूर्व मंत्री श्री शुक्ल

लघु उद्यमों की स्थापना से जिले में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे - विधायक मऊगंज

रीवा 12 जनवरी 2022. कृष्णा राजकपूर ऑडिटोरियम में आयोजित जिला स्तरीय स्वरोजगार मेले का शुभारंभ पूर्व मंत्री एवं विधायक श्री राजेन्द्र शुक्ल तथा विधायक मऊगंज श्री प्रदीप पटेल ने किया। मेले में विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित हितग्राहियों को हितलाभ का वितरण किया गया। मेले में श्रेष्ठ कार्य करने वाले बैंक अधिकारियों को सम्मानित किया गया। रोजगार मेले के माध्यम से निजी कंपनियों में चयनित युवाओं को मेले में नियुक्ति प्रदान किया गया।

मेले में पूर्व मंत्री श्री शुक्ल ने कहा कि वर्तमान में बेरोजगारी बड़ी समस्या है। इसका निदान करने के लिए देश के प्रधानमंत्री जी तथा प्रदेश के मुख्यमंत्री जी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से प्रयास कर रहे हैं। मुख्यमंत्री जी की मंशा के अनुसार आज स्वामी विवेकानंद जी की जयंती पर स्वरोजगार मेला आयोजित किया जा रहा है। रीवा जिले में पिछले दो महीने में विभिन्न योजनाओं के माध्यम से आठ हजार से अधिक स्वरोजगारियों को 90 करोड़ रुपए का ऋण स्वीकृत एवं वितरित किया गया है। रीवा जिले में सिंचाई सुविधा बढ़ने से आर्थिक विकास हुआ है। इससे रोजगार के अवसर बढ़े हैं। अब रीवा जिला विकास की राह पर आगे बढ़ चला है।

श्री शुक्ल ने कहा कि बड़े उद्योगों की स्थापना से लोगों को रोजगार के कम अवसर मिलते हैं क्योंकि अधिकांश कार्य मशीनों से होता है। उसकी तुलना में छोटे उद्योग अधिक व्यक्तियों को रोजगार का अवसर देते हैं। लघु उद्योगों की स्थापना के लिए जिले में तीन नए क्लस्टर विकसित किए जा रहे हैं। भोपाल में ग्लोबल स्किल पार्क बनाया जा रहा है। इससे रीवा की आईटीआई को भी जोड़ा जाएगा। ऋण प्रकरणों की मंजूरी में बैंकों ने सराहनीय योगदान दिया है। प्रधानमंत्री आवास योजना के गरीब परिवारों के चार सौ प्रकरण रीवा नगर निगम क्षेत्र में लंबित हैं। बैंक शाखा प्रबंधक इनका भी निराकरण करके गरीबों को आवास देने में सहयोग करें।

समारोह में पिछड़ावर्ग आयोग के सदस्य तथा विधायक मऊगंज श्री प्रदीप पटेल ने कहा कि रीवा में एक लाख से अधिक युवाओं ने रोजगार के लिए पंजीयन कराया है। सरकार युवाओं को रोजगार देने के लगातार प्रयास कर रही है। बैंक तथा विभागीय अधिकारी विभिन्न योजनाओं से इन युवाओं को लाभान्वित करें। कौशल विकास के माध्यम से भी युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। मुख्यमंत्री जी ने सदैव युवाओं की चिंता की है। मेले में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कहा कि रीवा जिले में प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम में 126 प्रतिशत प्रकरण मंजूर किए गए हैं। जिले में मुद्रा योजना तथा अन्य योजनाओं से 8 हजार 307 युवाओं को 97 करोड़ रुपए का ऋण मंजूर किया गया है। मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना, शहरी आजीविका मिशन, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से भी युवाओं को स्वरोजगार का अवसर मिल रहा है। एक जिला-एक उत्पाद योजना में जिले के लिए बांस उत्पादन का चयन किया गया है। बड़े किसान अपने खेतों में बांस का प्लांटेशन लगवाएं इससे पांच साल में प्रति हेक्टेयर डेढ़ से दो लाख रुपए प्रतिवर्ष की आय होगी। स्वरोजगार मेले का समापन यूनियन बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक राजीव रंजन द्वारा आभार प्रदर्शन से हुआ। मेले में आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र यूबी तिवारी, विभिन्न बैंकों के क्षेत्रीय प्रबंधक तथा शाखा प्रबंधक एवं बड़ी संख्या में हितग्राही उपस्थित रहे। समारोह का संचालन सहायक संचालक पिछड़ावर्ग सीएल सोनी ने किया।