Monday, 14 October 2019, 4:53 PM
ई-पेपर

श्रद्धा के मुताबिक पूजा

Updated on 14 October, 2019, 6:00
हरेक व्यक्ति में चाहे वह जैसा भी हो, एक विशेष प्रकार की श्रद्धा पाई जाती है। लेकिन उसके द्वारा अर्जित... आगे पढ़े

सिद्धांत गौण है, सत्ता प्रमुख 

Updated on 13 October, 2019, 6:00
पिछले दिनों में राष्ट्रीय रंगमंच पर जिस प्रकार का राजनीतिक चरित्र उभरकर आ रहा है, वह एक गंभीर चिंता का... आगे पढ़े

सुखी रहने के लिए लें धर्म की शरण! 

Updated on 11 October, 2019, 6:00
दुनिया का हर व्यक्ति केवल सुख ही चाहता है। दुख से सब दूर भागते हैं। यदि हमें सुखी रहना है... आगे पढ़े

इन लोगों से नहीं लें सलाह  

Updated on 10 October, 2019, 7:00
महात्मा विदुर महाभारत काल के महान नीतिज्ञ माने जाते हैं इन्हें धर्मराज का अवतार भी माना जाता है। इन्होंने हमेशा... आगे पढ़े

क्या है जीवन का सार 

Updated on 8 October, 2019, 6:00
दुख एक मानसिक कल्पना है। कोई पदार्थ, व्यक्ति या प्रिया दुख नहीं है। संसार के सब नाम-रूप गधा-हाथी, स्त्री-पुरुष, पशु-पक्षी,... आगे पढ़े

कौन है नीतिनिष्ठ व्यक्ति? 

Updated on 7 October, 2019, 6:15
सदाचार एक व्यापक और सार्वभौम तत्व है। देशकाल की सीमाएं इसे न तो विभक्त कर सकती हैं और न इसकी... आगे पढ़े

क्या है शुद्ध अहिंसा! 

Updated on 6 October, 2019, 6:15
गांधी जी ने अपने जीवन में अहिंसा के विविध प्रयोग किए। वे एक वैज्ञानिक थे। उनका जीवन प्रयोगशाला था। उनका... आगे पढ़े

गुरु तत्व का सम्मान 

Updated on 5 October, 2019, 6:00
जब भी तुमने बदले में किसी आशा के बिना किसी के किए कुछ भी किया हो, किसी को कोई सलाह... आगे पढ़े

जीवन में विचार की आवश्यकता

Updated on 4 October, 2019, 6:00
कुटिल एवं असत्य विचार से मुक्ति का सरल उपाय सुविचार की भावना दृढ़ करना है। शांतिदायक सुविचार की गंगा प्रवाहित... आगे पढ़े

उत्सव है बुद्धत्व 

Updated on 2 October, 2019, 6:00
बुद्धत्व मौलिक रूप से प्रांति है, विद्रोह है, बगावत है। काशी के पंडितों की सभा प्रमाणपत्र थोड़े ही देगी बुद्ध... आगे पढ़े

दिव्यता की विविधता  

Updated on 30 September, 2019, 6:00
ईश्वर ने दुनिया की छोटी-छोटी खुशियां तो तुम्हें दे दी हैं, लेकिन सच्चा आनन्द अपने पास रख लिया है। उस... आगे पढ़े

 गुरु की स्वीकार्यता  

Updated on 29 September, 2019, 6:00
हर वक्त संसार को गुरु की दृष्टि से देखो। तब यह संसार मलिन नहीं बल्कि प्रेम, आनन्द, सहयोगिता, दया आदि... आगे पढ़े

सतोगुण और तमोगुण का फर्क 

Updated on 28 September, 2019, 6:15
सतोगुण में ज्ञान के विकास से मनुष्य यह जान सकता है कि कौन क्या है, लेकिन तमोगुण तो इसके सर्वधा... आगे पढ़े

 प्रयत्न में ऊब नहीं 

Updated on 27 September, 2019, 6:00
संसार में गति के जो नियम हैं, परमात्मा में गति के ठीक उनसे उलटे नियम काम आते हैं और यहीं... आगे पढ़े

वाणी का शरीर पर प्रभाव  

Updated on 25 September, 2019, 6:00
मानव शरीर में अनेक ग्रंथियां होती हैं,पियूष ग्रंथि मस्तिष्क में होती है, उससे 12 प्रकार के रस निकलते है, जो... आगे पढ़े

 मौन का तन मन की सुन्दरता के लिये महत्व 

Updated on 24 September, 2019, 6:15
प्रत्येक मनुष्य सुन्दर एवं स्वस्थ्य रहना चाहता है। सुन्दरता एवं स्वस्थ्य का राज मौन मै छिपा हुआ है। सामान्यतŠ चुप... आगे पढ़े

 ध्वनि का प्राणी शरीर पर प्रभाव  

Updated on 23 September, 2019, 6:00
यह जानकर खुश होगें की ध्वनि का प्रभाव प्रत्येक जीव के शरीर पर पड़ता है। वर्तमान औधोगिकी करण और तकनीकि... आगे पढ़े

विचार-निर्विचार, चिंतन-अचिंतन 

Updated on 22 September, 2019, 6:00
पूरा विश्व, विचारों पर चलता है, सारे आविष्कार, युध्द, आतंकवाद, साहित्य सृजन, भाषण, प्रवचन, तू-तू, मैं-मैं सब विचारों की देन... आगे पढ़े

पाप कर्म का फल हानिकारक है 

Updated on 21 September, 2019, 6:00
कहहिं कबीर यह कलि है खोटी। जो रहे करवा सो निकरै टोटी।। एक छोटा सा पहाड़ी गांव था। ग्राम के... आगे पढ़े

सम्मान करो संपूर्णता से 

Updated on 20 September, 2019, 6:00
तुम किसी का सम्मान उसकी ईमानदारी, बुद्धिमत्ता, प्रेम और कार्य कुशलता जैसे सद्गुणों के लिए करते हो परंतु समय के... आगे पढ़े

आत्मा का दिव्य भाव 

Updated on 18 September, 2019, 6:00
जो व्यक्ति दिव्य पद पर स्थित है, वह न किसी से ईष्या करता है और न किसी वस्तु के लिए... आगे पढ़े

प्रधानता आत्मा को 

Updated on 17 September, 2019, 6:00
मनुष्य सामान्यत: जो बाह्य में देखता, सुनता, समझता है वह यथार्थ ज्ञान नहीं होता। किन्तु भ्रमवश उसी को यथार्थ ज्ञान... आगे पढ़े

 कैंची काटती है, सुई जोड़ती है 

Updated on 16 September, 2019, 6:00
कैंची काटती (तोड़ती) है और सुई जोड़ती है। यही कारण है कि तोड़ने वाली कैंची पैर के नीचे पड़ी रहती... आगे पढ़े

जहाँ शांति है वही सुख 

Updated on 15 September, 2019, 6:00
यदि हमारे पास दुनिया का पूरा वैभव और सुख-साधन उपलब्ध है परंतु शांति नहीं है तो हम भी आम आदमी... आगे पढ़े

जीवन एक क्रिकेट मैच 

Updated on 14 September, 2019, 6:00
प्रांतिकारी संत तरुणसागरजी ने क्रिकेट की व्याख्या करते हुए कहा कि जीवन एक क्रिकेट है, धरती की विराट पिच पर... आगे पढ़े

क्या हैं आध्यात्मिक होने का अर्थ 

Updated on 13 September, 2019, 6:00
यह प्रश्न किसी भी जिज्ञासु के मन में उठ सकता है कि हमें ठीक-ठीक ऐसा क्या करना चाहिए ताकि वह... आगे पढ़े

ज्ञेय और ज्ञान का संबंध

Updated on 12 September, 2019, 6:00
दर्शन के क्षेत्र में ज्ञान और ज्ञेय की मीमांसा चिरकाल से होती रही है। आदर्शवादी और विज्ञानवादी दर्शन ज्ञेय की... आगे पढ़े

उत्तम आकिन्चन्य, ममता दुख की खान

Updated on 11 September, 2019, 6:30
बाहर के पत्थर फेंकने से काम नहीं चलेगा, बाहर के बोझ के साथ साथ भीतरी बोझ भी उतारना जरूरी है।... आगे पढ़े

 सन्मार्ग की प्रवृत्ति

Updated on 11 September, 2019, 6:00
उत्तम कार्य की कार्य प्रणाली भी प्राय: उत्तम होती है। दूसरों की सेवा या सहायता करनी है, तो प्राय: मधुर... आगे पढ़े

प्रेम और समर्पण

Updated on 9 September, 2019, 6:00
प्रेम जीवन की परम समाधि है. प्रेम ही शिखर है जीवन ऊर्जा का. वही गौरीशंकर है जिसने प्रेम को जाना,... आगे पढ़े

मूवी रिव्यू