दुबई, पिछले साल जुलाई के बाद अपना पहला वनडे खेल रहे रवींद्र जडेजा ने बांग्लादेश के खिलाफ चार विकेट लेकर जबर्दस्त वापसी की. बाएं हाथ के स्पिनर जडेजा को हार्दिक पंड्या के चोटिल होने पर टीम में लिया गया और उन्होंने मौके का पूरा फायदा उठाकर दस ओवर में 29 रन देकर चार विकेट लिये. इससे उन्होंने विश्व कप के लिए भारतीय टीम में खुद की दावेदारी फिर से पेश की.

जडेजा ने ही बांग्लादेश की तोड़ी थी कमर

जडेजा ने बांग्लादेश के मध्यक्रम पर कहर बरपाया. जडेजा ने दसवें ओवर में गेंद थामी. शाकिब अल हसन (17) ने दो चौके लगाकर उनका स्वागत किया, लेकिन बाएं हाथ के इस स्पिनर ने बदला चुकता करने में जरा भी देर नहीं लगाई. शाकिब ने फिर से बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में स्क्वॉयर लेग पर खड़े शिखर धवन को आसान कैच दिया.
जडेजा ने मोहम्मद मिथुन (9) को एलबीडब्ल्यू आउट किया और फिर मुश्फिकुर रहीम (45 गेंदों पर 21 रन) की संघर्षपूर्ण पारी का अंत किया जिन्होंने रिवर्स स्वीप करके शॉर्ट थर्डमैन पर कैच थमाया. जडेजा की मौजूदगी के कारण पाकिस्तान के खिलाफ तीन विकेट लेने वाले जाधव को आज गेंदबाजी का मौका नहीं मिला.

जडेजा ने अपने अगले ओवर में मोसादिक हुसैन (12) को धोनी के हाथों कैच कराया जिन्हें युजवेंद्र चहल ने शुरू में ही जीवनदान दिया था. महमूदुल्लाह और मोसादिक ने छठे विकेट के लिए 36 रन जोड़े थे.

जडेजा बने 'मैन ऑफ द मैच'

रवींद्र जडेजा की अगुवाई में गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन और कप्तान रोहित शर्मा की 83 रनों की नाबाद पारी से भारत ने बांग्लादेश को 82 गेंदें शेष रहते हुए सात विकेट से हराकर एशिया कप सुपर फोर में अपने अभियान की जोरदार शुरुआत की.

लंबे अंतराल बाद वनडे में वापसी कर रहे रवींद्र जडेजा के चार विकेट के बाद कप्तान रोहित शर्मा की नाबाद 83 रनों की बेहतरीन पारी की बदौलत ही भारत को जीत मिल पाई है.

रवींद्र जडेजा को 'मैन ऑफ द मैच' का अवॉर्ड दिया गया. भारत अपना अगला मैच रविवार को पाकिस्तान से खेलेगा जबकि बांग्लादेश का सामना अफगानिस्तान से होगा.