ऑनलाइन रिटेलर कंपनी फ्ल‍िपकार्ट के ग्रुप सीईओ बिन्नी बंसल ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. कंपनी ने एक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी. कंपनी ने कहा कि मंगलवार को दिन में बिन्नी बंसल ने अपने इस्तीफे की घोषणा की. उन्होंने यह इस्तीफा तत्काल प्रभाव से दिया है.

कंपनी ने कहा कि ब‍िन्नी कंपनी की स्थापना से लेकर अब तक कंपनी का अहम हिस्सा रहे हैं. बता दें कि बिन्नी बंसल का यह इस्तीफा ऐसे समय में आया है, जब उनके ख‍िलाफ पर्सनल मिसकंडक्ट करने के आरोप में जांच चल रही थी.

वॉलमार्ट ने उनके इस फैसले को लेकर कहा है कि उनका यह फैसला उस जांच के बाद सामने आया है, जो फ्ल‍िपकार्ट और वॉलमार्ट ने मिलकर की थी.
उनके ख‍िलाफ यह जांच पर्सनल मिसकंडक्ट के आरोप को लेकर की जा रही थी. वॉलमार्ट ने अपने बयान में कहा कि ब‍िन्नी ने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया है. हालांकि इसके बाद भी यह हमारी जिम्मेदारी थी कि हम इस मामले में जांच करें.

वॉलमार्ट ने आगे कहा कि वैसे जांच में बंसल के ख‍िलाफ उसे कोई सबूत तो नहीं मिले. लेकिन इसमें फैसले को लेकर कई और खाम‍ियां सामने जरूर आईं. इसमें पारदर्श‍िता का मुद्दा भी शामिल था. इसको लेकर बिन्नी का जो रवैया रहा. उसको देखते हुए ही हमने उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया है.

वॉलमार्ट की तरफ से जारी बयान में सचिन बंसल के इस्तीफा देने के लिए पर्सनल मिसकंडक्ट को वजह बताया गया है. यहां बता दें कि सीरियस पर्सनल मिसकंडक्ट का आशय निजी स्तर पर दुर्व्यवहार का मामला हो सकता है. जिसमें कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार जैसी घटनाएं शामिल हो सकती हैं.

बता दें कि वॉलमार्ट ने फ्ल‍िपकार्ट में 77 फीसदी की हिस्सेदारी खरीदी है. इसी साल मई में यह 16 अरब डॉलर की डील हुई थी.