चंडीगढ़: हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अपनी ही पार्टी कांग्रेस पर निशाना साधा है. हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस रास्ते से भटक गई है, मेरे लिए देश पहले है. उन्होंने कहा जब सरकार कुछ अच्छा करती है तो हम उसका समर्थन करते हैं. हमारे साथियों ने अनुच्छेद 370 पर सरकार का विरोध किया. यह वह कांग्रेस नहीं है जो पहले थी. जब बात देशभक्ति और आत्मसम्मान की हो तो मैं कोई समझौता नहीं करूंगा.

हुड्डा ने आज रोहतक में परिवर्तन महारैली की. रैली में उन्होंने हरियाणा की खट्टर सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा, "मैं सवाल उठाता हूं कि पिछले 5 साल में कौन सा काम हुआ है. हमारी सरकार 10 साल तक रही. हमने फैक्ट्रियां लगाईं, रेल लाइन बिछाई, मेट्रो चलाई. 2014 में हरियाणा का कर्जा 60 हजार करोड़ था जो कि अब बढ़कर 1.70 लाख करोड़ पहुंच गया है. सरकार ने कोई काम नहीं किया है." 

पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा, "हरियाणा के लोगों को क्या चाहिए? यहां के लोग जनता की सरकार चाहते हैं. मैं राजनीति से संन्यास लेने की सोच रहा था लेकिन आपकी ये दशा देखकर मैंने संघर्ष करने का फैसला किया है." 

हुड्डा ने कहा, "मेरा परिवार चार पीढ़ियों से कांग्रेस में था. मैंने पूरे मन से कांग्रेस की सेवा की लेकिन अगर केंद्र की सरकार कोई ठीक काम करती है. केंद्र सरकार ने धारा 370 हटाई. मेरे बहुत से साथियों ने इसका विरोध किया लेकिन मैंने इसका समर्थन किया है. मेरे पार्टी भटक गई है. अगर सवाल देशभक्ति और स्वाभिमान का है तो मैं किसी से समझौता नहीं करूंगा. मैं हरियाणा सरकार से कहना चाहता हूं कि 370 की आड़ में पांच साल का हिसाब देना न भूलिए. 370 की आड़ में वोट करने का काम खट्टर सरकार न करे." 
हुड्डा की रैली पर सभी की नज़र इसलिए थी क्योंकि हुड्डा हरियाणा कांग्रेस नेतृत्व में बदलाव चाहते हैं. मसलन, हरियाणा में प्रदेश कांग्रेस की कमान पूर्व सांसद डॉ अशोक तंवर के पास है. लोकसभा की परफॉर्मेंस में हरियाणा कांग्रेस 10 में से 1 भी सीट नहीं जीत पाई थी. ऐसे में चर्चाएं है कि नेतृत्व में बदलाव के लिए कार्यकर्ता भी हुड्डा पर दबाव बनाए हुए थे, ऐसे में हाईकमान तक यह बातें भी गई.