नई दिल्ली । देश में कोरोना वायरस का एक और टीका तैयार हो गया है। भारत बायोटेक के कोवाक्सिन के बाद अहमदाबाद आधारित जायडस कैडिला हेल्थकेयर के वैक्सीन को मानव परीक्षण के लिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया  को मंजूरी मिल गई है। सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी दी है। कोविड-19 पर कठित एक्सपर्ट कमिटी के प्रस्ताव पर अप्रूवल प्रोसेस को फास्ट ट्रैक किया गया है। इस मामले से जुड़े एक सूत्र ने बताया,  के डॉक्टर वीजी सोमानी ने मानव पर फेज 1 और फेज 2 के लिए क्लीनिकल ट्रायल के लिए मंजूरी दी है। कंपनी का वैक्सीन जानवरों पर हुए परीक्षण में सफल रहा है।
इस बीच भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद आईसीएमआर ने देश के पहले स्वदेशी कोविड-19 टीके कोवाक्सिन के क्लीनिकल ट्रायल के लिए 12 संस्थानों का चयन किया है। आईसीएमआर ने भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड के साथ मिलकर स्वदेशी कोविड-19 टीका बीबीवी152 कोविड वैक्सीनविकसित किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक डॉ. तेद्रोस गेब्रियेसस ने कहा है कि वर्तमान में दुनिया भर कोविड-19 के 141 टीके विकसित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा हो सकता है कि टीका विकसित कर रहे अग्रणी उम्मीदवार टीके की सफलता से महज कुछ महीने दूर हों। निश्चित रूप से पूर्ण सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं है, लेकिन हम आशान्वित हैं। डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 प्रकोप को 11 मार्च को महामारी घोषित किया। जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के अनुसार दुनिया भर में कोरोना से 1.8 करोड़ से अधिक लोग संक्रमित हैं और 515,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।