नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आशा कार्यकर्ताओं के हड़ताल पर जाने के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है। राहुल ने शनिवार को ट्वीट कर कहा, आशा कार्यकर्ता देशभर में घर-घर तक स्वास्थ्य सुरक्षा पहुंचाती हैं। वो सही मायने में स्वास्थ्य वॉरियर्स हैं लेकिन आज खुद अपने हक के लिए हड़ताल करने पर मजबूर हैं। इतना ही नहीं राहुल ने तंज कसते हुए कहा, सरकार गूंगी तो थी ही, अब शायद अंधी-बहरी भी है। बता दें कि, देश की लाखों आशा वर्कर्स अपनी कई मांगों को लेकर 7 अगस्‍त से दो दिवसीय हड़ताल पर हैं।

देश की करीब 6 लाख आशा कार्यकर्ताएं मांग कर रही हैं कि उन्‍हें टाइम से वेतन मिले। उन्‍होंने सैलरी बढ़ाने की मांग रखी है ताकि वे कोरोना महामारी के समय जिस तरह से मदद कर रही हैं और कोरोना योद्धा की भूमिका निभा रही हैं, वो इस सेवाओं को जारी रख सकें। उनके संगठन की डिमांड है, बीमा और जोखिम भत्‍ते जैसी सुविधाएं मुहैया कराई जाएं। आशा कार्यकर्ताओं को 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियंस भी सपोर्ट कर रही हैं।