छत्तीसगढ़ से एक हैरान कर देने वाली खबर आई है. बिलासपुर संभाग में मुंगेली जिले में न्यायाधीश कांता मार्टिन ने रव‍िवार को आत्महत्या कर ली. हालांकि पुलिस को आत्महत्या के कारण का पता नहीं चल पाया.
मुंगेली जिला सत्र न्यायालय में मुंगेली की न्यायाधीश श्रीमती कांता मार्टिन का फांसी में लटक शव मिला. इस खबर के सामने आते ही इलाके में सनसनी फैल गई और बड़ी संख्या में पुलिस बल न्यायाधीश के बंगले पहुंचा. बंगले के बेडरूम में साड़ी का फंदा बनाकर शव पंखे में झूलता मिला.
जानकारों के अनुसार, महिला जज अकेले ही रहती थीं. जहां एक तरफ डिप्रेशन की बात निकल कर आ रही है तो वहीं अब भी मौत का कारण अज्ञात है.
जज शासकीय आवास मुंगेली कलेक्टर बंगले के बगल में ही रहती थीं. आत्महत्या के साथ ही दूसरे सभी पहलुओं को लेकर पुलिस जांच कर रही है.
महिला न्यायाधीश की उम्र तकरीबन 55 साल है और वे मुंगेली में डेढ़ साल से पदस्थ थीं. मौके पर पुलिस के उच्चाधिकारी पर आ गए थे. जांच कार्यवाही में फॉरेंसिक टीम के साथ डॉग स्क्वायड के साथ पुलिस के आला अधिकारी भी लगे हैं. बहरहाल, आत्महत्या का कारण अज्ञात है.