मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि बिजली उपभोक्ताओं के मीटर की रीडिंग प्रत्येक माह अनिवार्य रूप से की जाए। सिस्ट्म को दुरस्त करते हुए बिलिंग में गड़बड़ी के लिए वितरण केन्द्र के कनिष्ठ अभियंता और सहायक अभियंता की जिम्मेदारी तय की जाए। ऊर्जा मंत्री श्री तोमर आज बिजली कंपनियों के मुख्यालय शक्ति भवन, जबलपुर में विद्युत कंपनियों की समीक्षा कर रहे थे। मंत्री ने स्पष्ट रूप से कहा कि उत्कृष्ट कार्य करने वालों को प्रोत्साहित किया जाए और जो नियम विरूद्ध या गलत आचरण कर रहे हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। समीक्षा बैठक में एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी के प्रबंध संचालक व तीन डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों के अध्यक्ष श्री आकाश त्रिपाठी, पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री वी. किरण गोपाल, मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी के प्रबंध संचालक श्री मनजीत सिंह, पावर ट्रांसमिशन कंपनी के प्रबंध संचालक श्री सुनील तिवारी सहित अन्य वरिष्ठ अभियंता उपस्थित थे।