रीवा | विधानसभा अध्यक्ष श्री गिरीश गौतम ने कृष्णा राजकपूर आडिटोरियम में लक्ष्मी एजुकेशनल एवं ट्रेनिंग सोसायटी के संयोजन में आयोजित दो दिवसीय कला उत्सव का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन कर किया। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि रीवा जिले एवं विन्ध्य क्षेत्र में उच्च स्तरीय सृजन शीलता प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। यहां के कलाकार अपने द्वारा बनायी गयी आकर्षक हस्तशिल्प सामग्री के लिए प्रसिद्ध हैं जरूरत है तो उन्हें विस्तृत बाजार की। उन्होंने कहा कि दिव्यांगों द्वारा निर्मित हस्तशिल्प सामग्री अद्भुत है। इन्हें व्यापक बाजार उपलब्ध कराने के लिए विन्ध्य क्षेत्र के कलाकारों द्वारा निर्मित सामग्री के विक्रय के लिए विधानसभा का मंच उपलब्ध करायेंगे। उन्होंने कहा कि इसके पूर्व विंध्य क्षेत्र के पारंपरिक खाद्य  सामग्री को पूरे प्रदेश से परिचय कराने के लिए विधानसभा की कैन्टीन में खाद्य सामग्री विधायकों एवं सामान्य जन को उपलब्ध करायी गयी।
    विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि दिव्यांग बच्चों का मस्तिष्क सृजनात्मकता से भरा हुआ है। उनके द्वारा निर्मित सामग्री को परिचित कराने के लिए लक्ष्मी एजुकेशन एवं ट्रेनिंग सोसायटी में मौका दिया इसके लिए वे धन्यवाद के पात्र हैं। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि रीवा के बच्चों में संस्कार एवं शिक्षा विद्यमान हैं यह उन्हें ऊचाई तक ले जायेंगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा में बहुत शीघ्र विंध्य महोत्सव का आयोजन किया जायेगा। लक्ष्मी एजुकेशन एवं ट्रेनिंग सोसायटी द्वारा आयोजित कला उत्सव के माध्यम से महिला उद्यमियों को दीपावली एवं करवाचौथ उत्सव में विक्रय की जाने वाली सामग्री के लिए सशक्त मंच मिला है। उन्होंने कहा कि रीवा जिले के कलाकारों द्वारा निर्मित सामग्री उच्च स्तरीय है इसे उचित मंच मिलना चाहिए।
    विधानसभा अध्यक्ष ने महिलाओं और दिव्यांग बच्चों द्वारा लगाये गये स्टाल का अवलोकन किया। कार्यक्रम में सोनाली श्रीवास्तव, सिद्धार्थ श्रीवास्तव, सुषमा पाण्डेय, नीलेश श्रीवास्तव, राजेन्द्र श्रीवास्तव, भरत ठारवानी, चाँदनी ठारवानी, निलंजना पाण्डेय, शाहिल श्रीवास्तव, प्रभात दीक्षित, सतीश जैन, संतोष सोनी, सुशील श्रीवास्तव, अवधेश तिवारी एवं पुष्पेन्द्र गौतम सहित महिला उद्यमी उपस्थित थी।